Khilwar
Tuesday, 27, Oct 2020
Mobile:
Total Visitior : >
Today Visitior :


मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ की अध्यक्षता में मंत्रिमंड
कमल नाथ ने स्वर्गीय श्री लाल बहादुर शास्त्री की प्

अध्‍ययन से खुलासा, प्राचीन मंगल पर था तरल पानी

PUBLISHED : Sep 24 , 3:11 AM



हाई रिजोल्यूशन वाली तस्वीरों और स्थलाकृति संबंधी आंकड़ों की मदद से अमेरिका में जैक्सन स्कूल ऑफ जियोसाइंसेज के बी टी कार्डेनास और उनके सहकर्मियों ने नदी संबंधी जमावों के प्रारूप और बदलावों का पता लगाया.
ह्यूस्टन : मंगल ग्रह पर फैले नदियों के अवशेषों के अध्ययन के अनुसार, लगभग साढ़े तीन अरब साल पहले लाल ग्रह की सतह का पर्यावरण तरल जल के अनुकूल था. शोधकर्ताओं ने कहा कि मंगल के एयोलिस डोरसा नामक क्षेत्र में कुछ बेहद सघन तरीके से जमा नदी अवशेष हैं. उन्होंने कहा कि इन जमावों को उपग्रही तस्वीरों से देखा जा सकता है क्योंकि यहां 'टोपोग्राफिक इनवर्जन' नामक एक प्रक्रिया हुई है, जिसके तहत नदी में जमाव हो जाने से सतह पर टीलानुमा आकृतियां बनी हुई हैं.

हाई रिजोल्यूशन वाली तस्वीरों और स्थलाकृति संबंधी आंकड़ों की मदद से अमेरिका में जैक्सन स्कूल ऑफ जियोसाइंसेज के बी टी कार्डेनास और उनके सहकर्मियों ने नदी संबंधी जमावों के प्रारूप और बदलावों का पता लगाया.

कोरोना वायरस ; भारत

भारत के सामने कोरोना वायरस टेस्टिंग क्षमता बढ़ाने की राह में सबसे बड़ी चुनौती टेस्टिंग किट की है. देश में फिलहाल एक लाख टेस्टिंग किट ही उपलब्ध हैं. भारत सरकार ने 10 लाख और टेस्टिंग किट का ऑर्डर दिया है. View more+

मुख्य समाचार

बॉलीवुड

Prev Next

Copyright © 2012
Designing & Development by