Khilwar
Tuesday, 22, Jun 2021
Mobile:
Total Visitior : >
Today Visitior :


मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ की अध्यक्षता में मंत्रिमंड
कमल नाथ ने स्वर्गीय श्री लाल बहादुर शास्त्री की प्

नोटबंदी के बाद मोदी सरकार ने करीब सवा दो लाख फर्जी कंपनियों पर जड़ा ताला

PUBLISHED : Nov 05 , 8:32 PM



केंद्र सरकार ने करीब सवा दो लाख फर्जी कंपनियों पर ताला जड़ दिया है. कालेधन के प्रवाह पर अंकुश लगाने के उद्देश्य से मोदी सरकार ने यह कार्रवाई की है.
नई दिल्ली: केंद्र सरकार ने करीब सवा दो लाख फर्जी कंपनियों पर ताला जड़ दिया है. कालेधन के प्रवाह पर अंकुश लगाने के उद्देश्य से मोदी सरकार ने यह कार्रवाई की है. सरकार ने एक जानकारी देते हुए कहा है कि करीब 35,000 कंपनियों ने नोटबंदी के बाद 17,000 करोड़ रुपये जमा कराए थे, जिसे बाद में निकाल लिया गया था. कालेधन के प्रवाह पर अंकुश के लिए उठाए गए कदमों के तहत अभी तक 2.24 लाख निष्क्रिय कंपनियों का नाम आधिकारिक रिकॉर्ड से हटा दिया गया है और 3.09 लाख निदेशकों को अयोग्य घोषित किया गया है. कंपनियों के बोर्ड में डमी निदेशकों की नियुक्त रोकने के लिए एक ऐसी व्यवस्था स्थापित की जा रही है जिसमें निदेशक के लिए नए आवेदनों को संबंधित व्यक्ति के पैन या आधार नंबर से जोड़ा जाएगा.

सरकारी बयान में कहा गया है कि अभी तक 2.24 लाख कंपनियों का नाम आधिकारिक रिकॉर्ड से हटाया गया है. ये कंपनियां दो या अधिक साल से निष्क्रिय थीं. बयान में कहा गया है कि बैंकों से मिली शुरुआती सूचना के अनुसार 35,000 कंपनियों से जुड़े 58,000 बैंक खातों में नोटबंदी के बाद 17,000 करोड़ रुपये जमा कराए गए थे, जिसे बाद में निकाल लिया गया. इसमें कहा गया है कि एक कंपनी जिसके खाते में 8 नवंबर, 2016 को को कोई जमा नहीं थी, ने नोटबंदी के बाद 2,484 करोड़ रुपये जमा कराए और निकाले.

पिछले साल नवंबर में सरकार ने कालेधन और भ्रष्टाचार से निपटने के लिए 500 और 1,000 के नोटों को बंद कर दिया था. सरकार ने कहा कि एक कंपनी ऐसी थी जिसके 2,134 खाते थे. इस तरह की कंपनियों से संबंधित सूचनाओं को प्रवर्तन अधिकारियों से आगे की कार्रवाई के लिए साझा किया गया है. पंजीकरण रद्द कंपनियों के संदर्भ में राज्य सरकारों को सलाह दी गई है कि ऐसी इकाइयों की संपत्तियों के पंजीकरण की अनुमति नहीं दें.

सुखद तस्वीर: डॉक्टर्

ग्वालियर : कोरोना संक्रमण के इस बुरे दौर में मरीज़ को अपनों का साथ मिलते रहना बहुत जरूरी है. अगर इस दौरान मरीज़ को दवा के साथ-साथ अपनों का साथ मिलता रहे तो मरीज़ जल्दी स्वस्थ हो जाता है. ऐसा ही एक नज़ारा शहर के निजी अस्पताल में देखने को मिला है. अस्पताल में भर्ती कोरोना महिला के जन्म View more+

मुख्य समाचार

बॉलीवुड

Prev Next

Copyright © 2012
Designing & Development by