Khilwar
Thursday, 21, Oct 2021
Mobile:
Total Visitior : >
Today Visitior :


मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ की अध्यक्षता में मंत्रिमंड
कमल नाथ ने स्वर्गीय श्री लाल बहादुर शास्त्री की प्

अक्षय की 'सलाह' पर बनी शहीदों के परिजनों के लिए...

PUBLISHED : Apr 09 , 7:47 PM



नई दिल्ली : देश की सीमाओं और आंतरिक सुरक्षा में तैनात केन्द्रीय सशस्त्र पुलिस बल के जवानों के परिजनों को वेबपोर्टल और मोबाइल एप के जरिए ऑनलाइन आर्थिक मदद पहुंचाने की सुविधा रविवार से शुरू हो जाएगी. केन्द्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह और फिल्म अभिनेता अक्षय कुमार ‘‘भारत के वीर’’ नामक पोर्टल और मोबाइल एप की शुरुआत करेंगे.

अर्धसैनिक बल के जवानों की शहादत के बाद उनके परिवार को आर्थिक मदद पहुंचाने के लिए ऑनलाइन दान दिया जा सकेगा. गृह मंत्रालय ने हाल ही में अक्षय कुमार के सुझाव पर यह वेबसाइट और एप तैयार किया है. उन्होंने सरकार को परामर्श दिया था कि सीमा या आंतरिक सुरक्षा में तैनाती के दौरान शहीद हुए सशस्त्र बल के जवानों का ऑनलाइन ब्यौरा सार्वजनिक होना चाहिए, जिसकी मदद से कोई भी व्यक्ति शहीद जवान के परिवार को मदद मुहैया करा सके.

वेबपोर्टल और मोबाइल एप पर शहीद जवानों की सूची और उनके परिजनों संपर्क कायम करने की पूरी जानकारी मौजूद रहेगी. इसमें शहीद के किसी एक परिजन का बैंक खाता नंबर भी शामिल होगा जिससे कोई भी दानदाता बैंक खाते में सीधे राशि जमा करा सके. वेबसाइट पर शहीद हुए सैनिक की शहादत से जुड़े अभियान की जानकारी भी दर्ज होगी.

किसी भी परिजन के बैंक खाते में सहायता राशि जमा कराने की अधिकतम सीमा 15 लाख रुपए तय की गई है. यह सीमा पूरी होते ही संबद्ध शहीद के परिजनों की जानकारी वेबसाइट से स्वत: हट जाएगी. अधिकारी ने बताया कि सैन्य अभियानों में गंभीर रूप से घायल हुए जवानों की भी वेबसाइट पर जानकारी मुहैया कराने की भी योजना है. जिससे इन्हें इच्छुक दानदाता चिकित्सा सहायता भी मुहैया करा सकेंगे. इससे जुड़ी सभी जरूरी जानकारियां वेबसाइट पर अपडेट करने के लिए बीएसएफ, सीआरपीएफ, आईटीबीपी, एसएसबी और एनएसजी के नोडल अफसर तैनात किए जाएंगे.

ज्ञात हो कि गत 11 मार्च को छत्तीसगढ़ में नक्सली हमले में शहीद हुए सीआरपीएफ के 12 जवानों के परिजनों को अक्षय कुमार ने नौ-नौ लाख रुपए की सहायता राशि दी थी. इसके बाद बैडमिंटन खिलाड़ी साइना नेहवाल ने भी प्रत्येक पीड़ित परिवार को 50 हजार रुपए दान में दिए थे.

सुखद तस्वीर: डॉक्टर्

ग्वालियर : कोरोना संक्रमण के इस बुरे दौर में मरीज़ को अपनों का साथ मिलते रहना बहुत जरूरी है. अगर इस दौरान मरीज़ को दवा के साथ-साथ अपनों का साथ मिलता रहे तो मरीज़ जल्दी स्वस्थ हो जाता है. ऐसा ही एक नज़ारा शहर के निजी अस्पताल में देखने को मिला है. अस्पताल में भर्ती कोरोना महिला के जन्म View more+

मुख्य समाचार

बॉलीवुड

Prev Next

Copyright © 2012
Designing & Development by