Khilwar
Tuesday, 14, Jul 2020
Mobile:
Total Visitior : >
Today Visitior :


मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ की अध्यक्षता में मंत्रिमंड
कमल नाथ ने स्वर्गीय श्री लाल बहादुर शास्त्री की प्

Ozone में बना छेद 1988 के बाद सबसे छोटा : NASA

PUBLISHED : Nov 05 , 8:47 PM



अंटार्कटिका क्षेत्र में हर साल बनने वाले ओजोन छेद में इस साल सितंबर में 1988 के बाद सबसे ज्यादा घटाव पाया गया है. 
वाशिंगटन: अंटार्कटिका क्षेत्र में हर साल बनने वाले ओजोन छेद में इस साल सितंबर में 1988 के बाद सबसे ज्यादा घटाव पाया गया है. नासा और नेशनल ओसनिक एंड एटमोस्फेरिक एडमिनिस्ट्रेशन (एनओएए) के वैज्ञानिकों ने इस बारे में घोषणा की और बताया कि गर्म वायु के कारण हर साल सितंबर में किए जाने वाली जांच में अंटार्कटिक क्षेत्र के ऊपर ओजोन परत का छेद 1988 के बाद सबसे छोटा पा गया है. नासा के मुताबिक, 11 सितंबर को ओजोन छेद में सबसे ज्यादा विस्तार हुआ, जोकि आकार में तकरीबन अमेरिका के क्षेत्र का ढाई गुना यानी 76 लाख वर्गमील था. इसके बाद सितंबर से अक्टूबर तक ये छोटा होता रहा.

नासा के मैरीलैंड के ग्रीनबेल्ट स्थित गोड्डार्ड स्पेस फ्लाइट सेंटर में प्रमुख भूवैज्ञानिक, पॉल ए. न्यूमैन ने कहा, "इस साल अंटार्कटिक ओजोन छेद असाधारण रूप से छोटा पाया गया है."

इस साल ओजोन छेद में इस परिवर्तन के पीछे वैज्ञानिक अंटार्कटिक भंवर की अस्थिरता व ज्यादा गर्मी, जोकि अंटार्कटिक क्षेत्र के वायुमंडल में दक्षिणावर्त बनने वाले समतापमंडलीय निम्न दबाव के कारण उत्पन्न होती है, को मानते हैं.

कोरोना वायरस ; भारत

भारत के सामने कोरोना वायरस टेस्टिंग क्षमता बढ़ाने की राह में सबसे बड़ी चुनौती टेस्टिंग किट की है. देश में फिलहाल एक लाख टेस्टिंग किट ही उपलब्ध हैं. भारत सरकार ने 10 लाख और टेस्टिंग किट का ऑर्डर दिया है. View more+

मुख्य समाचार

बॉलीवुड

Prev Next

Copyright © 2012
Designing & Development by